पतंजलि गुलाब जल फायदे Patanjali Gulab Jal (Rose Water) Benefits Gulab Jal Ke Fayade

पतंजलि गुलाब जल फायदे Patanjali Gulab Jal (Rose Water) Benefits Gulab Jal Ke Fayade

पतंजलि गुलाब जल फायदे Patanjali Gulab Jal (Rose Water) Benefits Gulab Jal Ke Fayade

पतंजलि गुलाब जल (Patanjali Rose Water ):  

पतंजलि का गुलाब जल अत्यंत ही शुद्ध और उत्तम गुणवत्ता में काफी किफायती दरों पर उपलब्ध है। गुलाब के विषय में बात करते ही सभी को इसकी मोहक खुशबू की याद आती है, और याद आता है प्रेम का रिश्ता। गुलाब जल की महक के साथ ही गुलाब जल के कई औषधीय लाभ भी होते हैं क्यों की गुलाब जल में एंटी इंफ्लेमेंटरी और एंटी ऑक्सीडेंट्स के गुण होते हैं। वैसे तो घरेलु स्तर पर गुलाब जल का उपयोग प्रायः किया ही जाता है लेकिन वर्तमान में गुलाब जल के गुणों को जानकार कई प्रकार के सौंदर्य प्रसाधनों में भी गुलाब जल का उपयोग किया जाने लगा है।
पतंजलि गुलाब जल के विषय पर पतंजलि की वेबसाइट से प्राप्त कथन : Patanjali Rose Water
Divya Gulab Jal is made by extracting the natural goodness of roses. It has antibacterial, anti-inflammatory and astringent properties. It is widely used as a medium for face packs to cleanse and soothe your skin. A couple of drops in the eyes cleanses, soothes and improves vision. It washes away the constant deposition of toxins from the environment. Divya Gulab Jal removes excess oil from skin and moisturizes skin in a balanced way. Use Divya Gulab Jal to bid adieu to dry skin and irritation in eyes. Experience the best of Nature's offering with Divya Gulab Jal.
पतंजलि गुलाब जल कहाँ से खरीदें Buy Patanjali Rose Water: पतंजलि गुलाब जल को आप पतंजलि के स्टोर्स और ऑनलाइन भी खरीद सकते हैं। इसके लिए निचे दिए गए पतंजलि वेबसाइट के लिंक पर विजिट करें।
पतंजलि गुलाब जल की कीमत Patanjali Rose Water Price: पतंजलि गुलाब जल की नवीनतम कीमत २८ रुपये १२० एम्एल है। अधिक जानकारी के लिए पतंजलि की अधिकृत वेबसाइट पर विजिट करें। 
पतंजलि गुलाब जल के फायदे Benefits of Patanjali Rose Water:

पतंजलि गुलाब जल के फायदे Benefits of Patanjali Rose Water:  

पतंजलि गुलाब जल को आप कई प्रकार से उपयोग में ले सकते हैं। गुलाब जल के कुछ लाभ निम्न प्रकार से हैं। 
गुलाब जल चेहरे के लिए Rose Water for Face glow : गुलाब जल से आप अपनी खुबसुरती को और अधिक निखार सकते हैं। गुलाब जल कील मुहांसों को दूर करने के अतिरिक्त चेहरे पर ग्लो को बढ़ाता है और चेहरे की त्वचा पर पीएच बैलेंस को भी नियमित करता है। इसके लिए आप गुलाब जल को चेहरे पर क्रीम की तरह से लगाए और चेहरे पर ग्लो को बढ़ाएं। गुलाब जल को मुल्तानी मिटटी / चन्दन पाउडर में मिलाकर उसके पेस्ट को चेहरे पर कुछ देर तक लगा कर रखने से कील मुंहासे दूर होते हैं।  गुलाब जल के एंटी ऑक्सीडेंट्स गुणों के कारण ही इसे स्किन के लिए एक बेहतरीन टोनर माना जाता है। गुलाब जल में एस्ट्रिंजेंट तत्व के कारन ही यह त्वचा के लिए बहुत ही उपयोगी होता है। गुलाब जल रोम छिद्रों को साफ़ करता है और त्वचा में प्राकृतिक रूप से नमी को बढ़ाने में मदद करता है। गुलाब जल में एंटी इंफ्लेमेंटरी गुणों के कारण यह त्वचा की सूजन को भी दूर  करने में उपयोगी होता है। इनके साथ ही गुलाब जल से त्वचा की चमक बढ़ती है और झुर्रिया समाप्त होती है। काले घेरे और सनबर्न में भी गुलाब जल का प्रयोग उपयोगी होता है।
बालों के लिए गुलाबजल Rose Water for Healthy Hair: रूखे, बेजान और उलझे हुए बालों के लिए भी गुलाब जल का उपयोग लाभदायी होता है। इसके लिए बालों में हलके हाथों से गुलाब जल की मालिश करने पर लाभ मिलता है। ग्लिसरीन और गुलाब जल को मिला कर बालों में लगाने से भी बालों का रुखापन जल्दी दूर होता है।
गुलाब जल फटी एड़ियों के लिए Rose Water for Bruised heel : गुलाब जल को ग्लिसरीन में मिलाकर फटी एड़ियों पर लगा कर सोने से फटी एड़ियों में सुधार होता है और एड़िया जल्दी ठीक होती हैं। अगली सुबह ठन्डे पानी से धोने पर अच्छे परिणाम प्राप्त होते हैं। 
गुलाब जल जल होठों के लिए Rose Water for glowing Lips: गुलाब जल को सीधे दिन में दो से चार बार होठों पर लगाएं या फिर चुकुन्दर के रस में गुलाब जल को मिलाकर होठों पर लगाने से होंठ कोमल बनते हैं और होठों के फटने की समस्या में सुधार होता है।
आँखों के लिए गुलाब जल Rose Water for Shiny Eyes: आयुर्वेद के मतानुसार आँखों के विकारों के लिए भी गुलाब जल बेहतरीन है। इसके लिए दो बुँदे आँखों में डालने से लाभ मिलता है। आखों का दुखना, देर तक कंप्यूटर पर काम करने के कारण आँखों में आयी सूजन, आँखों से पानी आना आदि विकारों में गुलाब जल का उपयोग लाभदायी होता है। सामन्य आखों की जलन, गर्मियों में आँखों के जलने पर गुलाब जल की दो बुँदे आँखों में राहत देती है। गुलाब जल आपकी आंखों को धूल, प्रदूषण, जलन, लालपन और मेकअप प्रोड्क्टस के हानिकारक तत्वों के प्रभाव से दूर रखने में मदद करता है। आखों में गुलाब जल को डालने के अतिरिक्त आप आखों पर गुलाबजल की पट्टी को भी रख सकते हैं।
सर दर्द के लिए गुलाब जल Rose Water for Headache: सर दर्द के लिए भी गुलाब जल लाभकारी होता है। देर तक टीवी देखने और कंप्यूटर पर काम करने से सरदर्द की समस्या के लिए आप गुलाब जल को एक रुमाल में भीगों से और माथे पर इसकी पट्टी करने से सरदर्द में सुधार होता है और नींद में भी सुधार होता है।
कान दर्द के लिए गुलाब जल : गुलाब जल की एक से दो बुँदे कान में डालने से कान में होने वाले सामान्य दर्द में भी सुधार होता है।
घर को बनाये खुशनुमा : आर्टिफिशियल स्प्रे की जगह पर आप स्प्रे करने वाली बोतल में पानी भरें और उसमे दो से तीन चमच्च गुलाब जल मिला कर घर में इसका स्प्रे करें तो घर का वातावरण खुशनुमा हो जाता है। 
दाढ़ के दर्द के लिए गुलाब जल : दाढ़ में दर्द होने पर आप कुछ बून्द निम्बू रस को लेकर उसे गुलाब जल में मिला लें और इस मिश्रण को एक रुई के फोहे में भिगोकर दाढ़ के निचे रखने से दाढ़ का दर्द ठीक होने लगता है, ऐसा गुलाब जल के एंटी सेप्टिक और एंटी इंफ्लेमेंटरी गुणों के कारण से होता है।
बेहतर नींद के लिए गुलाब जल : रात को सोने से पहले आखों में कुछ बुँदे गुलाब जल की डालने और मस्तक पर गुलाब जल को लगाने से बेहतर नींद आती है और थकान दूर होती है।
गुलाब क्या है : Rose (Rosa rubiginosa (sweet briar,sweetbriar rose, sweet brier or eglantine; syn. R. eglanteria) गुलाब वर्ष में कई बार पुष्प देने वाला एक झाड़ीदार, कंटीला, पुष्पीय पौधा है जिसमें बहुत सुंदर सुगंधित फूल लगते हैं, जिन्हे गुलाब का फूल कहा जाता है। इसकी १०० से अधिक जातियां हैं जिनमें से अधिकांश एशियाई मूल की हैं जबकि कुछ जातियों के मूल प्रदेश यूरोप, उत्तरी अमेरिका तथा उत्तरी पश्चिमी अफ्रीका भी है। गुलाब का फूल कोमलता और सुंदरता के लिये प्रसिद्ध है, इसी से लोग छोटे बच्चों की उपमा गुलाब के फूल से देते हैं। लाल गुलाब का फूल प्रायः हर जगह पाया जाता है जबकि कश्मीर और भूटान में पीले फूल के जंगली गुलाब बहुत मिलते हैं। भारतवर्ष में जो चैती गुलाब होते है वे प्रायः बसरा या दमिश्क जाति के हैं।
मिठाई में करें गुलाब जल का उपयोग : आप जब घर पर कोई मिठाई बना रहे हों तो उसमे कुछ बुँदे  गुलाब जल की डालने पर उसकी खुशबू और स्वाद में परिवर्तन हो जाता है और इसे सभी पसंद भी करेंगे।
गुलाब जल क्या है : गुलाब जल गुलाब की पत्तियों से रस को निकाल कर बनाया जाता है जिसका उपयोग सौंदर्य प्रसाधन और भोजन, इत्र और दवा बनाने में किया जाता है। भोजन और मिठाइयों को बेहतर स्वाद और सुगंध के लिए भी इसका उपयोग किया जाता है।
गुलाब जल कैसे बनता है : गुलाब जल के निर्माण के लिए सूर्योदय से पूर्व ही गुलाब की पत्तियों को तोड़ लिया जाता है। ताम्बे के बर्तन में गुलाब जल का निर्माण उत्तम माना जाता है। तोड़ी गयी पत्तियों की बराबर मात्रा से थोड़ा सा कम (यदि १ किलो गुलाब की पत्तियां हैं तो ९०० मिली लीटर पानी ) में पानी को ताम्बे के बर्तन में धीमी आंच पर चढ़ाया जाता है। ताम्बे के ऊपरी भाग में ताम्बे की नली या फिर बांस की नली को जोड़ा जाता है जो ठन्डे पानी के पात्र से गुजरती हुयी एक अन्य स्थान पर खुलती है। पानी से बानी भाप में गुलाब की सुगंध और गुण समाहित हो जाते हैं। बूँद बूँद गुलाबजल को एक अन्य पात्र में संगृहीत कर लिया जाता है। उत्तम गुणवत्ता के गुलाबजल जो प्रथम बार में ही प्राप्त हो जाता है उसे उच्च गुणवत्ता का गुलाब जल माना जाता है। गुलाब जल बनाने की विधि में ६ से ७ घंटे का समय लगता है।
गुलाब जल के उपयोग : गुलाब जल जहाँ खाने का जायका बढ़ाने में काम में लिया जाता है वहीँ गुलाब जल के कई औषधीय गुण भी होते हैं। आयुर्वेदा में कई प्रकार की पिस्टी बनाने में गुलाब जल का उपयोग किया जाता है। गुलाब जल को निम्न कार्यों में प्रयोग में लिया जाता है। 
  • गुलाबजल का उपयोग कई प्रकार की आयुर्वेदिक पिष्टी बनाने में प्रोसेस के दौरान लिया  जाता है। 
  • मिठाइयों और भोजन के जायके को बढ़ाने के लिए गुलाब जल का उपयोग किया जाता है। 
  • गुलाब जल का उपयोग शरबत बनाने के लिए किया जाता है। 
  • कई प्रकार के इत्र बनाने में गुलाब जल का उपयोग किया जाता है।

Ayurvedic use Rose (Gulab)

Some Faqs  About 'Gulab Jal'(Rose Water) गुलाब जल के विषय में सामन्य प्रश्न :

What is the use of Gulab Jal? गुलाब जल का क्या उपयोग होता है :

 जैसा की आपने इस लेख में पढ़ा गुलाब जल का उपयोग पारम्परिक रूप से आयुर्वेद से साथ घरेलु नुस्खों में और वर्तमान में कई प्रकार के सौंदर्य प्रसाधनों से लेकर मिठाइयों में किया जाता है। गुलाब जल में एंटीऑक्सीडेंट्स और एंटी इंफ्लामेंटरी गुण पाए जाते हैं इसलिए यह हमारे शरीर के लिए बहुत ही उपयोगी होता है।

What does rose water contain? गुलाब जल में क्या होता है : 

गुलाब जल में कई प्रकार के एंटी ऑक्सीडेंट्स और प्राकृतिक रूप से मधुर खुशबू समाहित होती है। 

Can I Drink rose Water : क्या गुलाब जल को पिया जा सकता है : 

गुलाब जल का सेवन वैद्य के निरीक्षण में ही किया जाय तो बेहतर है यद्यपि आप इसे संतुलित मात्रा में ले सकते हैं, यथा भोजन में और शरबत में। प्राचीन समय से ही गुलाब जल का उपयोग वैवाहिक पेय प्रदार्थों को बनाने में  किया जाता रहा है। भारत में ही नहीं पुरे विश्व में ही प्राचीन समय से गुलाब जल का उपयोग किया जाता रहा है। रोज वाटर को पिने से आपके शरीर पर बहुत ही अच्छे परिणाम प्राप्त होते हैं यथा यह त्वचा को अंदर से मजबूत बनाती है और इसमें एंटी एजिंग प्रॉपर्टीज भी होती है जिससे बढ़ती उम्र के प्रभावों को कम किया जा सकता है। शरीर की सूजन को दूर करने और हरदम खुश मिजाज रहने के लिए इसका सेवन किया जा सकता है। पतंजलि रोज वाटर को कितनी मात्रा में सादे पानी में मिलाना है इसके लिए आप वैद्य से राय लेवे। 

Is Gulab Jal A toner? क्या गुलाब जल त्वचा के में निखार लाता है : 

हाँ, निचे दिए गए लिंक का अध्ययन कीजिये जिसमे शोध में यह सिद्ध होता है की गुलाब जल का उपयोग त्वचा में निखार लाने के लिए उत्तम होता है।

Can rose water brighten skin? क्या गुलाब जल से त्वचा में निखार आता है : 

हाँ, गुलाब जल को नियमित रूप से चेहरे या हाथों पर लगाने से त्वचा में निखार आता है। गुलाब जल त्वचा के Ph स्तर को नियन्त्रिक करने में सहायता करता है।
Is Rose water good for weight loss? क्या गुलाब जल वजन कम करने में सहायता करता है : हाँ, गुलाब जल में एंटी ऑक्सीडेंट्स होते हैं जो कुछ हद तक वजन को नियंत्रित करने में मदद कर सकते हैं। दिन में दो बार गुलाब जल की चाय पीने से शीघ्र लाभ मिलता है।
Can I leave rose water on my face overnight? क्या चहरे पर रात भर गुलाब जल को लगाकर छोड़ा जा सकता है : हाँ, गुलाब जल को रात को सोते समय चेहरे, हाथों आदि पर लगाकर सोने से सन बर्न, प्रदूषण आदि से त्वचा पर आयी काली परतें हटती हैं और त्वचा का Ph बैलेंस सुधरता है और रिंकल्स दूर होते हैं।
Why is rose water so expensive? गुलाब जल महंगा क्यों होता है : गुलाब जल के महंगे होने का कारण गुलाब की पत्तियों की अनुपलब्धता और इसे बनाने की प्रक्रिया है। कई किलो गुलाब की पत्तिओं से बहुत ही थोड़ी मात्रा में गुलाब जल बनता है जिसके कारण गुलाब जल महंगा हो जाता है।
How do you know if Rose water is pure? गुलाब जल की शुद्धता का पता कैसे करें : गुलाब जल की शुद्धता के विषय में कहा जा सकता है की प्रथम तो आप किसी प्रतिष्ठित निर्माता का गुलाब जल खरीदें या फिर आप स्वंय गुलाब जल का घर पर ही निर्माण कर लेवें। शुद्ध गुलाब जल की अपनी एक महक होती है और उसे कांच की बोतल में डालने पर हल्का सा पिंक कलर दिखाई देता है, इसके अलावा यदि आप बाजार से गुलाब जल को खरीद रहे हैं तो निर्माता का इंग्रेडिएंट्स का नॉट भी पढ़ लेवे की उसमे गुलाब जल के साथ क्या मिलाया गया है। बोतल पर डिस्टिल्ड शब्द अवश्य ही पढ़ें।
Does rose water help acne? हाँ, यहाँ त्वचा के  फटने को सुधरता है।
Is Gulab Jal good for hair? क्या गुलाब जल बालों के लिए अच्छा है : हाँ, गुलाब जल बालों के लिए भी अच्छा है। रात को सोते वक़्त गुलाब जल से बालों में मालिस करने पर बालों में प्राकृतिक चमक आती है और टूटे फूटे बाल भी  ठीक होते हैं और इसके अतिरिक्त थकान दूर होती है और बेहतर नींद आती है।
Is Rose water good for eyesight? क्या आँखों के लिए गुलाब जल लाभदायी होता है : हाँ, गुलाब जल के एंटी इंफ्लामेंटरी गुणों के कारण यह आखों के लिए भी लाभदायी होता है। प्रदूषण, कंप्यूटर पर देर तक काम करने, लगातार ड्राइविंग करने या टीवी देखने के कारण, गर्मियों के लू के कारन आखों में जलन होने पर आप दो बुँदे गुलाब जल की आँखों में डालें तो लाभ मिलता है। इसके अतिरिक्त आप एक रुमाल पर गुलाब जल लगाकर आखों पर पट्टी करें तो भी लाभ मिलता है।
Can I use rose water daily? क्या गुलाब जल का उपयोग रोज किया जा सकता है : सामान्य रूप से किया जा सकता है क्यों की गुलाब जल की प्रवृति सौम्य होती है। यदि आप इसका कोई चकित्सीय उपयोग ले रहें हैं तो वैद्य से संपर्क करें। 
Does rose water lighten lips? क्या गुलाब जल से होंठ मुलायम बनते हैं : हाँ, गुलाब जल को आप नित्य होठों पर लगाएं तो होठों का फटना रुकता है और होंठ मुलायम बनते हैं।
Does rose water have side effects? क्या गुलाब जल के कोई साइड इफेक्ट्स होते हैं : साधारण रूप से इसके कोई दुष्परिणाम नहीं होते लेकिन कुछ व्यक्तियों को यदि रोज वाटर से एलर्जी हो तो उन्हें इसका उपयोग नहीं करना चाहिए और वैद्य से सलाह लेनी चाहिए। एलर्जी होने पर जलने का एहसास होना, लाल निशाँ होना और खुजली जैसे लक्षण हो सकते हैं।
 
सन्दर्भ : कृपया विस्तृत जानकारी के लिए निम्न का अध्ययन करें। 

Click Here For More Latest Hindi Bhajans

विनम्र निवेदन: वेबसाइट को और बेहतर बनाने हेतु अपने कीमती सुझाव नीचे कॉमेंट बॉक्स में लिखें व इस ज्ञानवर्धक ख़जाने को अपनें मित्रों के साथ अवश्य शेयर करें। यदि कोई त्रुटि / सुधार हो तो आप मुझे यहाँ क्लिक करके ई मेल के माध्यम से भी सम्पर्क कर सकते हैं। धन्यवाद।

4 टिप्‍पणियां

टिप्पणी पोस्ट करें